chana khane ke fayde in hindi चना खाने के फायदे

आज हम आपको chana khane ke fayde in hindi के ऐसे अद्भुत फायदे बताएंगे जो आज से पहले कभी पढ़े नहीं या सुने नहीं होंगे और आयुर्वेद में चना चने की दाल और इसको किसी भी रूप में खाना स्वास्थ्यवर्धक बताया गया है चने के सेवन से कई रोग ठीक हो जाते हैं क्योंकि इसमें प्रोटीन नमी कार्बोहाइड्रेट्स आयरन कैल्शियम और विटामिन पाए जाते हैं चना दूसरी दालों के मुकाबले सस्ता होता है और सेहत के लिए भी दूसरे दालों से अधिक पौस्टिक होता है। चना शरीर को बीमारियों से लड़ने में सक्षम बनाता है साथ ही दिमाग को तेज और चेहरे को सुंदर बनाता है।

chana ke fayde चना के फायदे

चने के सबसे अधिक फायदे इन्हे अंकुरित करके खाने में होते है। चना शरीर में ताकत देने वाला होता है और भोजन में रुचि पैदा करने वाला होता है सूखे भुने हुए चने बहुत रुक्छ और वात तथा कुष्ठ को नष्ट करने वाले होते हैं उबले हुए चने कोमल रुचि कारक वित्त शुक्र नाशक शीतल कसैले वातकारक ग्राही हल्के कफ तथा पित्त नाशक होते है।

चना शरीर को चुस्त दुरुस्त करता है खून में जोश पैदा करता है यकृत यानी कि आपके जिगर यानी के आपके लीवर और प्लीहा के लिए लाभकारी होता है। तबीयत को नरम करता है खून को साफ करता है धातु को बढ़ाता है आवाज को साफ करता है रक्त संबंधी बीमारियों और वादी में लाभदायक भी होता है।

इसके सेवन से पेशाब खुलकर आता है इसको पानी में भिगोकर चबाने से शरीर में ताकत आती है । वैसे तो चने को आप खाने में जरूर इस्तेमाल करें यह किसी दवा से कम नहीं है ।

चने खाने से एक नहीं कई फायदे होते हैं तो क्यों नहीं अंकुरित चनो का इस्तेमाल रोज किया जा सकता है ।आपके स्वास्थ के लिए हर जरूरी चीज को आप तक पहुंचाना जो आप और आपके परिवार के लिए जरूरी और फायदेमंद है यही तो हमारा कर्तव्य है ।

bheege chane ke fayde भीगे चने के फायदे

चना विशेषकर किशोरों जवानों तथा शारीरिक मेहनत करने वालों के लिए पौष्टिक नाश्ता भी होता है । इसके लिए 25 ग्राम देसी काले चने लेकर अच्छी तरह से साफ कर लें मोटे पुस्ट चने को लेकर साफ करें इसमें से कीड़े डंक लगे हुए टूटे चने निकाल दें शाम के समय इन चनो को लगभग 125 ग्राम पानी में भिगोकर रख दीजिए ।

सुबह के समय फ्रेश होने के बाद व्यायाम यायाम करके आप चने को अच्छी तरह से चबा चबाकर खाएं ।और ऊपर से चने का पानी वैसे ही या फिर एक या दो चम्मच शहद मिलाकर पी जाइए।

देखने में यह प्रयोग एकदम साधारण लगता है किंतु यह शरीर को बहुत ही स्फूर्तिवान और शक्तिशाली बनाता है। चने की मात्रा धीरे-धीरे 25 से 50 ग्राम तक बढ़ाइए और खाते रहिए। भीगे हुए चने को खाने के बाद दूध पीने से शारीरिक बल पुस्ट होता है।

व्यायाम के बाद रात के भीगे हुए चने चने के पानी के साथ पीने से स्वास्थ्य अच्छा बना रहता है। जिसकी पाचन शक्ति यानी भोजन पचाने की शक्ति कमजोर होती है या चना खाने से पेट में गैस होता है तो उन्हें चने का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि चने को पचाने में थोड़ी मेहनत लगती है। चना न्युट्रिस के मामले में बादाम से भी ज्यादा फायदेमंद होता है।

ankurit chana ke fayde अंकुरित चने के फायदे

आयुर्वेद में चने की दाल और चने को शरीर के लिए बेहद स्वास्थ्यवर्धक बताया गया है। चने के सेवन से कई बीमारियां दूर हो जाती हैं भीगे हुए चने में प्रोटीन मिनरल्स फाइबरऔर विटामिन्स भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं।जो कई बीमारियों से बचाने के लिए हेल्दी रहने में आपकी मदद करती है ।वैसे तो हर इंसान के अलग-अलग हैं

लेकिन खासकर मर्दों को जरूर खाना चाहिए क्योंकि चना को शरीर को बीमारियों से लड़ने में काफी सक्षम होता है ।अब बात करते हैं किस प्रकार से किन रूपों में इस आप इनका इस्तेमाल कर सकते हैं तो सबसे पहले बात करेंगे अंकुरित चने की । अंकुरित चने खाना बहुत ही लाभप्रद होता है ।

अंकुरित चना धातुओं को पुस्ट मांसपेशियों को शुद्धरण और शरीर को वज्र के समान बना देता है और यही नहीं यह सभी चर्म रोगों को यानि स्कीन संबंधी जो भी परेशानियां होती हैं उनको भी ठीक करता है।इसके अतिरिक्त अंकुरित चने का सेवन करने से यह रक्त में कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और दिल की बीमारियों को दूर करने में भी सहायक होता है।

chane ko ankurit karne ki vidhi चने को अंकुरित करने की विधि

अब आपको बताते हैं कि चने को अंकुरित करने की विधि क्या है कैसे इसको अंकुरित करना है। अंकुरित करने के लिए चने को अच्छी तरह से पानी में साफ करके इतने पानी में भिगोएं जितना पानी चना सोख लें । इसे सुबह के समय पानी में भिगो दें और रात में साफ मोटे गीले कपड़े या उसकी थैली में बांधकर लटका दें।

गर्मी में 12 घंटे और सर्दी के मौसम में 18 से 24 घंटे के बाद भिगोकर गीले कपड़े में बांधने से अंकुर निकल आते हैं यानी कि वह अंकुरित हो जाते हैं। गर्मी में थैली में आवश्यकतानुसार पानी छिड़कते रहना चाहिए। इस प्रकार चने अंकुरित हो जाएंगे ।अंकुरित चने का नाश्ता एक उत्तम टॉनिक होता है ।

अंकुरित चनो में कुछ व्यक्ति स्वाद के लिए काली मिर्च सेंधा नमक अदरक के कुछ कतरन और नींबू के रस की कुछ बूंदें भी मिला लेते हैं लेकिन अगर अंकुरित चने को बिना किसी मिलावट के खाया जाए तो यह बहुत ज्यादा उत्तम हो जाता है। chana khane ke fayde कुछ अद्भुत रूप में मैं आपको बताता हूं । शरीर को बीमारी नहीं लगती शरीर को सबसे ज्यादा पोषण काले चने से मिलता है ।

kala chana ke fayde काले चने के फायदे

काले चने अंकुरित होने चाहिए क्योंकि इन अंकुरित चनो में सारे विटामिंस और क्लोरोफिल्स के साथ फास्फोरस आदि मिनरल्स होते हैं । जिन्हें खाने से शरीर को कोई बीमारी नहीं लगती । काले चानो को रात में भिगोकर रख लें और हर दिन सुबह दो मुट्ठी खाएं कुछ ही दिनों में और दिखने लगेगा।

वजन कम करना अगर आपको अपना वजन कम करना है तो रोजाना सुबह उठकर खाली पेट भीगे हुए चने खाने से आपका वजन जल्दी ही कम होने लगेगा । कब्ज और पेट दर्द से छुटकारा रात भर भीगे हुए चने से पानी को अलग करके उसमें अदरक जीरा और नमक को मिक्स करके खाने से कब्ज और पेट दर्द की समस्या दूर हो जाती है।

शरीर को ताकत देता है शरीर को ताकत बढ़ाने के लिए अंकुरित चने में नींबू अदरक के टुकड़े हल्का नमक और काली मिर्च डालकर सुबह नाश्ते में खाएं आपको पूरे दिन एनर्जी मिलेगी। चने का सत्तू चने का सत्तू भी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद औषधि माना जाता है। शरीर की क्षमता ताकत को बढ़ाने के लिए गर्मियों में आप चने के सत्तू में नींबू और नमक मिलाकर पी सकते हैं यह भूख को भी शांत करता है।

chana khane ke fayde in hindi चना खाने के फायदे
chana khane ke fayde in hindi चना खाने के फायदे

Use of gram as a medicine चना का औषधि के रूप में प्रयोग

In Stone problem पथरी की समस्या में

चना पथरी की समस्या अब आम हो गई है दूषित पानी और दूषित खान पान के चलते पथरी की समस्या बढ़ती जा रही है। गाल ब्लेडर और किडनी में पथरी की समस्या सबसे अधिक होती है ऐसे में रात भर भिगोए चने में थोड़ा शहद मिलाकर रोजाना सेवन करें।नियमित रूप से चनों का सेवन करने से पथरी आसानी से निकल जाएगी। इसके अलावा आप गेहूं के आटे और चने के आटे दोनों को मिक्स करके रोटियां बनाएंगे तो आपको काफी फायदा होगा ।

In cleaning body filth शरीर की गंदगी साफ करने में

काला चना शरीर के अंदर की गंदगी को अच्छे से साफ करता है जिससे डायबिटीज एनीमिया आदि की परेशानी दूर होती है। और यह बुखार आदि में भी राहत देता है ।डायबिटीज के मरीज के लिए चना ताकतवर होता है यह शरीर में ज्यादा मात्रा में ग्लूकोज को कम करता है जिससे डायबिटीज के मरीजों को फायदा मिलता है ।इसलिए अंकुरित चनो का सेवन डायबिटीज के रोगियों को सुबह-सुबह करना चाहिए।

In urinary disease मूत्र संबंधी रोग में

मूत्र से संबंधित किसी भी रोग में भुने हुए चने का सेवन करना चाहिए । इससे बार-बार पेशाब आने की दिक्कत दूर हो जाती है क्योंकि भुने हूए चनों में गुड़ मिलाकर खाने से यूरिन के किसी भी तरह के समस्या में राहत मिलती है। पुरुषों की कमजोरी को दूर करता है अधिक काम और तनाव के वजह से पुरुषों में कमजोरी होने लगती है

ऐसे में अंकुरित चना किसी वरदान से कम नहीं होता है । पुरुषों को अंकुरित चने को चबा चबा कर खाने से कई फायदे मिलते हैं इससे पुरुषों की कमजोरी दूर होती है। भीगे हुए चनो के पानी के साथ शहद मिलाकर पीने से और पौरसुत्व बढ़ता है और कमजोरी दूर होती है ।

In jaundice पीलिया के रोग में

पीलिया की बीमारी में चने के 100 ग्राम दाल में दो गिलास पानी डाल कर अच्छे चनो को कुछ घंटों के लिए भिगो दें और दाल से पानी को अलग कर ले अब इस दल में 100 ग्राम गुड़ मिलाकर 4 से 5 दिन तक रोगी को देते रहें । पीलिया रोग में रोगी को चने की दाल का सेवन करना चाहिए ।

In Leucorrhoea प्रदर और श्वेत प्रदर में

मुट्ठी भर भुने हुए चने के छिलके उतारकर उसे पीसकर चूर्ण बना लें उसमें बराबर मात्रा में मिश्री का पाउडर मिला लें और 6 ,6 ग्राम की मात्रा में ठंडे पानी के साथ सेवन करने से प्रदर में लाभ मिलता है। दिन में एक बार ही इसका सेवन करें वह भी खाना खाने के बाद। चने के सत्तू में मिश्री डालकर गाय के दूध के साथ सेवन करने से श्वेत प्रदर में लाभ होता है।

मोच के स्थान पर चने बांधकर उसे पानी में पानी से भिगोते रहे जैसे जैसे चने फूलेंगे मोच अपने आप दूर हो जाएगी। पथरी गुर्दे या मूत्राशय में पथरी हो रात में एक मुट्ठी चने की दाल को भिगो दें और सुबह के समय इस दाल को शहद में मिलाकर खाने से लाभ मिलता है ।

In Acid bile means acidity अम्ल पित्त यानी कि एसिडिटी में

काले चने और काली मिर्च को मिलाकर पीसकर चटनी की तरह सेवन करने से एसिडिटी शांत हो जाती है। चने की सब्जी खाने से गले की जलन कम हो जाती है दर्द और सूजन कमर हाथ या पैर कही भी दर्द हो वहां बेसन लगाकर रोजाना मालिश करें इस तरह मालिश करने से दर्द और सूजन दोनों ठीक हो जाएंगे । शीतपित्त चने से बने मोती लड्डूओ पर काली मिर्च डालकर खाने से पित्त ठीक हो जाता है ।

bimari mein chana ka upayog बीमारी में चना का उपयोग

In diabetes मधुमेह के रोग में

चने और जौ के आटे की रोटी खाने से मधुमेह रोगी को फायदा मिलता है 7 दिन तक केवल चने की रोटी खाएं गूलर के पत्तों को उबालकर उसी पानी से नहाए थोड़ा-थोड़ा पानी पिए किताब में शक्कर यानि कि चीनी आना बंद हो जाएगा और मधुमेय में लाभ होगा । रात को लगभग 30 ग्राम काले चने दूध में भिगो दे और सुबह उठते ही खा ले ।

चने और जौ को बराबर मात्रा में मिलाकर उसके आटे की रोटी सुबह शाम खाएं केवल चने के बेसन की रोटी ही 10 दिन तक खाते रहने से पेशाब में चक्कर आना बंद हो जाता है । 25 से 30 ग्राम काले चने को दूध में भिगो दें सुबह में उसका सेवन करें चने और जौ को बराबर मात्रा में पीसकर उसकी रोटी खाएं इससे पेशाब में शक्कर आना बंद होगा और काफी लाभ होगा।

In tumor ट्यूमर में

चने का आटा गूगल में मिलाकर टिकिया बनाकर गिल्टी या ट्यूमर पर रखें इससे गिल्टी या ट्यूमर ठीक हो जाएगा । उसकी सूजन कम हो जाएगी सभी प्रकार के दर्द पर भी यह असर करता है। भुने हूए चनों को खाने में अन्नद्रवसुल यानिकि अनाज के कारण होने वाला दर्द ठीक हो जाता है ।

In skin diseases त्वचा के रोग में

त्वचा के रोग के लिए चने की रोटी खाने से या अंकुर फूटे हुए चने खाने से हर प्रकार के त्वचा यानी स्क्रीन से संबंधित रोग दूर हो जाते हैं। दाद 64 दिन तक लगातार बिना नमक के चने आटे की रोटी खाने से दाद खुजली और खून की कमी दूर हो जाती है।बाल रोग चने के ऑटो को खूब बारीक पीसकर पानी में मिलाकर गर्म करके बच्चे के पेट पर मालिश करने से आराम मिलता है। जलने पर चने को दही के साथ पीसकर शरीर के जले हुए भाग पर लगाने से तुरंत आराम आ जाता है।

In low blood pressure निम्न रक्तचाप में

20 ग्राम काला चनाऔर 25 दाने किसमिस या मुनक्के रात को में ठंडे पानी में भिगो दें सुबह रोजाना खाली पेट खाने से निम्न रक्तचाप यानी कि लो ब्लड प्रेशर में लाभ होता है और साथ-साथ चेहरे की चमक भी बढ़ती है ।घबराहट या बेचैनी लगभग 50 ग्राम चना और 25 दाने किसमिस को रोजाना पानी में भिगोकर रख दें सुबह खाली पेट चने और किशमिश खाने से घबराहट दूर हो जाती है।

In Mental hysteria मानसिक उन्माद यानी कि पागलपन में

पित्त या गर्मी के कारण पागलपन हो तो शाम को 50 ग्राम चने की दाल पानी में भिगो दें सुबह के समय पीसकर चीनी और पानी मिलाकर एक गिलास भरकर पीने से लगभग पागलपन फील होने की जो बीमारी होती है वह दूर हो जाती है चने की दाल को भिगोकर उसका पानी पिलाने से उन्माद या यानी कि मानसिक पागलपन और उल्टी ठीक हो जाते हैं।

In facial beauty चहरे के सौंदर्य में

सौंदर्य वर्धक चावल जौ चना मसूर मटर को बराबर की मात्रा में लेकर बारीक पीस लें इसमें से थोड़ा-थोड़ा चूर्ण लेकर लेप बना ले और चेहरे पर लगाएं थोड़े दिनों तक यह लेप रोजाना चेहरे पर लगाने से चेहरा दमक उठेगा बेसन से चेहरा धोने से चेहरे के धब्बे झाइयां मिट जाती है चेहरा सुंदर निखरता है।

तेज धूप गर्मी लू से त्वचा के रक्षा के लिए बेसन को दूध या दही में मिलाकर गाढ़ा लेप बना लें इसे सुबह-शाम आधा घंटा चेहरे पर लगाएं इससे रूप निखर जाता है।चने के बेसन में नमक मिलाकर और उसे अच्छी तरह से घोलकर लेप बना लें इस लेप को चेहरे पर मलने से त्वचा में झुर्रिया नहीं आती और चेहरा सुंदर बनता है।चेहरे की झाई के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है

chana khane ke fayde in hindi चना खाने के फायदे
chana khane ke fayde in hindi चना खाने के फायदे

दो बड़े चम्मच चने की दाल को आधा कप दूध में रात को भिगोकर रख दे सुबह में दाल को पीसकर उसी दूध में मिला लें फिर इसमें एक चुटकी हल्दी और 6 नींबू के मिलाकर चेहरे पर लगा कर रखे सूखने पर चेहरे को गन गुने पानी से धो लें इस पैक को सप्ताह में तीन बार लगाने से चेहरे की झुर्रियां दूर हो जाती हैं।

In white stain सफेद दाग में

मुट्ठी भर काले चने और 10 ग्राम त्रिफला चूर्ण यानी कि हरड़ बहेड़ा और आँवला उन सब को एक साथ मिलाकर 125 मिलीलीटर पानी मैं भिगो दें कम से कम 12 घंटे के बाद इन चनो को मोटे कपड़े में बांधकर रख दें और बचा हुआ पानी कपड़े की पोटली के ऊपर डाल दें फिर 24 घंटे के बाद पोटली को खोल दें तब तक चनो में से अंकुर निकल आएंगे यदि किसी मौसम में अंकुर ना भी निकले तो चनो को ऐसे ही खा ले । इस तरह से अंकुरित जनों को चबा चबाकर लगातार छह हफ्ते खाने से सफेद दाग दूर हो जाएंगे।

समापन

तो दोस्तों उम्मीद करता हु “chana khane ke fayde in hindi चना खाने के फायदे”आपको ये पोस्ट अच्छा लगा होगा।

दोस्तों अगर आपको ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे।

इसके अतिरिक्त आप अपना Comment दे सकते है और हमें E-Mail भी कर सकते हैं |

यदि आपके पास Hindi का कोई ,Health Tips in Hindi में जानकारी है और यदि आप वह हमारे साथ Share करना चाहते है तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ हमें E-Mail करे | हमारी E-Mail Id है – admin@gyankibate.com यदि आपकी पोस्ट हमें पसंद आती है तो हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ अपने Blog पर Publish करेंगे |

इसे भी पढ़े

Spread the love

Leave a Comment