neem in hindi information नीम की जानकारी हिंदी में

हम इस ब्लॉग neem in hindi information में नीम के बारे में जानकारी देंगे कि नीम का इस्तेमाल हमारे जीवन में कितना उपयोगी है।और इसका इस्तेमाल किस प्रकार औषधि के रूप में किया जाता है जिसका लाभ हमें किस किस बीमारी में मिलाता है।जो कि इसके इस्तेमाल से भली बहती ठीक हो जाता है।तथा इसमें ये भी बताया गया है कि इसकी पत्तियां जड़ और तना को औषधि के रूप में किस प्रकार किया गया है। जिसका विवरण निन्लिखित ब्लॉग में पूर्णरूपेण किया गया है ।

(और भी पढ़े treatment for hair loss in hindi बाल झड़ने का इलाज हिंदी में)

neem in hindi नीम हिंदी में

neem in hindi information में आज मैं आपको बताऊंगा नीम से होने वाले कुछ फायदे दोस्तों यह तो सभी जानते हैं कि नीम के पत्ते कड़वे होते हैं। और इसका फल अपने अंदर मीठापन लिये होता है। इसकी छाल फल फूल सभी काम आते हैं इसके बीजों को निमोली कहते हैं जिनसे तेल निकलता है। अप्रैल और मई में इसमें फूल खिलते हैं और बाद में फल बनते हैं इसके अलावा नींम में एक आयुर्वेदिक दवा भी है जिसके बहुत से फायदे हैं। नीम हमारी शरीर त्वचा और बालों के लिए बहुत फायदेमंद है।

आयुर्वेद में नीम को उच्च स्थान दिया गया है क्योंकि ऋषि मुनि इसके अनमोल गुणों के बारे में अच्छी तरह से जानते थे। नीम भारत में सभी जगह होता है। नीम मे एंटी वायरल गुण होता है जो मलेरिया को रोकने में उसके उपचार में सहायक होता है। बुखार और ऐसी बीमारियों में भी नीम एक रामबाण औषधि है।neem in hindi information में इसके पेड़ के नीचे बैठना भी स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक है। चमड़ी के रोगों में भी नीम बहुत असरदार है।

benefits of neem for hair in hindi बालों के लिए नीम के फायदे हिंदी में

एक तरह से इसे ऊपर से लेकर नीचे तक सभी तरह से नीम को लाभदायक घरेलू नुस्खों के रूप में अपना सकते हैं। बाल में डेंड्रफ हो या अन्य कोई भी फंगल इन्फेक्शन हो तो नीम के पत्तों को पेस्ट बनाकर बालों में अच्छी तरह मल दें बाद में हेयर आयल में थोड़ा सा नीम आयल मिलाकर लगाते रहिए। नीम बालों को झड़ने से रोकने में भी मदद करता है। चेहरे पर मुंहासे हो दाग हो या इन्फेक्शन हो तो नीम के पत्ते को चबा चबा कर खाएं और इसका पेस्ट भी लगा सकते हैं।

neem in hindi information नीम की जानकारी हिंदी में
neem in hindi information नीम की जानकारी हिंदी में

benefit of neem in hindi नीम के फायदे हिंदी में

हम नीम आयल में हल्दी मिलाकर लगाएं और अच्छी तरह मल दे तो और भी फायदा होगा दांतों को स्वस्थ रखने के लिए रोज सुबह नीम की डाली से दंत मंजन करें मुंह में बैक्टीरिया का नाश होगा। और दांतों में सड़न भी नहीं होगी। जिंदगी भर आपके दांत सुरक्षित रहेंगे बुखार या वायरल इंफेक्शन हो तो नीम के पत्ते और नीम के पेड़ के छाल को पानी में उबालकर काढ़ा बनाये और दिन में तीन बार सेवन करें।

benefits of neem for fever in hindi बुखार के लिए नीम के फायदे हिंदी में

इस ब्लॉग neem in hindi information में नीम के पत्तों को पानी में उबालकर स्नान करें तो भी बुखार उतर जाएगा और इम्यूनिटी बढ़ेगी अगर किसी भी कारण चमड़ी जल जाए तो उस जगह पर पानी डाल दें।और फिर बाद में नीम के पत्ते का पेस्ट बनाकर लेप करें और कपड़े से बांध दें जब थोड़ा सा रुज आ जाए तो नीम के तेल जले हुए भाग पर लगाने से कोई इंफेक्शन नहीं होगा। पीलिया हो जाए तो कोई वैक्सीन या एंटीवायरल से बेहतर है नीम।

benefits of neem for cough in hindi खांसी के लिए नीम के फायदे हिंदी में

नीम के पत्तों को पानी में उबाल दें और छान लें इसमें शोंठ और हल्दी मिलाकर सेवन करें तो पीलिया जल्दी ही उतर जाएगा अगर किसी को खांसी है या दमे की भी समस्या है। तो दिए गए उपचार दोनों में ही समान रूप से फायदे करेंगे नीम के तेल की 10 बूंद पान के पत्ते में लगा कर खाएं आपको फायदा होगा। दोस्तों neem in hindi information में अगर आपको रसेज खुजली दाद खाज अक्सर हो जाता है तो नीम के 400 ग्राम पत्ते 2 लीटर पानी में उबाल लें और ठंडा हो जाने पर नहाने के पानी में मिक्स कर दे और उससे नहा लें चर्म रोग में बहुत फायदे करेंगे।

information about neem in hindi नीम की जानकारी हिंदी में

अगर चर्म रोग नहीं है तो भी अगर इससे नहाया जाए तो कभी चर्म रोग नहीं होगा अगर दांतों में पायरिया रोग लग गया है तो तुरंत इसके बारे में सोचें अगर नीम के तेल की मालिश मसूड़ों और दांतों पर की जाए तो पायरिया खत्म हो जाएगा। आपके स्किन का कलर कितना भी साफ हो अगर उस पर कील और मुंहासे है तो आपका फेस देखने में सुंदर नहीं लगेगा अच्छा बेदाग चेहरा पाने के लिए नीम की पत्तियों को जला ले और इसके राख बना ले और इस राख को वैसलीन में मिक्स करके रात में सोते समय लगाएं कील और मुंहासे खत्म हो जाएंगे।

neem in hindi information नीम की जानकारी हिंदी में
neem in hindi information नीम की जानकारी हिंदी में

Benefits of neem for stomach in hindi पेट के लिए नीम के फायदे हिंदी में

जैसा कि neem in hindi information में बताया गया है कि अगर पेट में कीड़े हो गए हैं तो एक बूंद नीम का आयल एक दिन छोड़कर पिलाएं नीम आयल से सारे कीड़े मर जाते हैं और मल के रास्ते बाहर निकल जाते हैं। पेट के दर्द में भी नीम काम आता है 10 ग्राम नीम के बीज 10 ग्राम तुलसी की पत्तियां 10 ग्राम शोंठ 10 दाने कालीमिर्च मिलाकर पीस लें और रोगी को तीन बार चटायें पेट का दर्द खत्म हो जाएगा।बच्चों के सिर में अक्सर जू हो जाया करती है। सर की सफाई अगर अच्छे से ना की जाए तो जू किसी को भी हो सकती है।

benefits of neem for skin in hindi त्वचा के लिए नीम के फायदे हिंदी में

नीम के आयल को नहाने के 20 मिनट पहले लगा ले और फिर कंगी से जू निकाल दें जू मरे हुए निकलेंगे। कंठमाला के रोग में नीम के आयल को कंठमाला पर लगाने से अच्छा लाभ होता है। अगर खून साफ नहीं है तो अक्सर फोड़े और फुंसीयां निकलती रहती है चेहरे पर बार-बार पिंपल आना भी ब्लड में खराबी का कारण होता है।

आपको जानकारी के लिए मै बता रहा हु कि नीम के आयल के 5 बूंद डेली 30 से 45 दिन लेने से फोड़े फुंसियां निकलना बंद हो जाएंगे। और साथ ही चेहरे पर चमक आ जाएगी नीम एक आयुर्वेदिक दवाई है इसके कई स्वास्थ्यवर्धक फायदे हैं ।

use of neem in hindi नीम का उपयोग हिंदी में

जिस प्रकार आपको पता है कि कड़वा स्वाद लोगों को बहुत खराब लगता है। इसीलिए वे इसे चाह कर भी खा नहीं पाते इसी कारण नीम का रस पीना ज्यादा आसान होता है। आइए जानते हैं हम इस गुणकारी नीम के रस का फायदा नीम का रस वैसे तो बहुत कड़वा होता है जिसे पीना बहुत ही मुश्किल होता है। अगर आपको इसके फायदे चाहिए तो इसे एक गिलास में डालकर इस को दवा समझ कर पूरा एक साथ पी ले इसके अलावा यह भी देखें कि नीम के रस को और किस किस प्रकार से पिया जा सकता है।

नीम के रस में थोड़ा मसाला डाल दे जिससे इसमें स्वाद आ जाएगा इसको पीने से पहले उसमें नमक और काली मिर्च या फिर दोनों ही डाल दें। कई लोगों को नीम की महक अच्छी नहीं लगती है इसीलिए जब रस निकाल ले तब उसको फ्रीज में 15 से 20 मिनट तक रख दे या उसमें बर्फ के कुछ ट्यूब डाल दें और फिर पियें।लेकिन सबसे अच्छा होगा कि नीम के रस को निकाल कर तुरंत पी लिया जाए। इसको 30 मिनट से ज्यादा स्टोर करके नहीं रखना चाहिए।

अगर आपको नीम के जूस का पूरा फायदा उठाना है तो इसमें चीनी बिल्कुल भी ना मिलाये नीम का रस हमेशा सुबह-सुबह ही पियें। इसकी कड़वाहट को कम करने के लिए इसमें नमक मिलाएं और हल्का सा पानी भी तो दोस्तों देखा आपने नीम से कई तरह के उपचार किए जा सकते हैं। यह पेड़ बीमारियों से आजाद होता है यानी इस पर कीड़े मकोड़े नहीं लगते हैं इसीलिए नीम को आजाद पेड़ भी कहा जाता है। तो आप भी अपनाइए इसके औषधीय गुणों को और रहिए बीमारियों से हमेशा आजाद।

समापन

तो दोस्तों उम्मीद करता हु “neem in hindi information नीम की जानकारी हिंदी में ”आपको ये पोस्ट अच्छा लगा होगा।

दोस्तों अगर आपको ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे।

इसके अतिरिक्त आप अपना Comment दे सकते है और हमें E-Mail भी कर सकते हैं |

यदि आपके पास Hindi का कोई ,Health Tips in Hindi में जानकारी है और यदि आप वह हमारे साथ Share करना चाहते है तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ हमें E-Mail करे | हमारी E-Mail Id है – admin@gyankibate.com यदि आपकी पोस्ट हमें पसंद आती है तो हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ अपने Blog पर Publish करेंगे |

इसे भी पढ़े

  1. benefits of dates खजूर खाने के फायदे
  2. chana khane ke fayde चना खाने के फायदे
  3. badam khane ke fayde बादाम खाने के फायदे
  4. weight loss tips in hindi वजन कम करने का तरीका
  5. motivational story in hindi असंभव कुछ भी नही
Spread the love

Leave a Comment